जेवर एयरपोर्ट भूमि पूजन: देश का पहला नेट जीरो एमिशन एयरपोर्ट

 

Jewar International Airport:उत्तर प्रदेश में चल रही चुनवी हवा के बीच PM     Narendra Modi गौतम बुद्ध नगर के जेवर में Jewar International Airport का शिलान्यास कर रहे हैं.

जेवर में बन रहा यह एयरपोर्ट दिल्ली-एनसीआर में दूसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा और इसके बनने के बाद            इंदिरा  गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर दबाव भी कम हो जाएगा.

ये एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा और फर्स्ट नेट जीरो एमिशन एयरपोर्ट होगा यानि प्रदुषण से पूरी तरह से मुक्त। दिल्ली-एनसीआर के लोगो के लिए ये नायब तोहफा होगा।

यात्रियों की सुविधा के हिसाब से तैयार किया गया डिजाइन

 

नोएडा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की सीईओ किरण जैन ने कहा है कि हवाई अड्डे का डिजाइन यात्रियों की सुविधा के आधार पर तैयार किया गया है. हवाई अड्डे पर प्रक्रियाओं को डिजिटल रूप से सक्षम किया जाएगा. सितंबर / अक्टूबर 2024 तक परिचालन शुरू करने का लक्ष्य है.

सीएम योगी कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे

सीएम योगी कार्यक्रम स्थल पहुंच चुके हैं. डिप्टी सीएम भी रैली स्थल पर है. रैली के स्तर पर मोदी-योगी के नारे लग रहे हैं. किसी भी वक्त पीएम मोदी यहां पहुंच सकते हैं.

2024 तक पूर्वोत्तर की सभी राजधानियां एयरपोर्ट से जुड़ जाएंगी

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 7 साल में पूर्वोत्तर में इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने का काम किया गया. मैं दावे से कह सकता हूं कि 2024 तक पूर्वोत्तर की सभी राजधानियां एयरपोर्ट से जुड़ जाएंगी. 8 में से 7 राज्य रेल मार्ग से जुड़े होंगे. कई राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने का भी काम किया गया है.

इस एयरपोर्ट की खास बड़ी बातें

1.नोएडा इंटरनेशल एयरपोर्ट बनने के कारण प्रभावित हुए लोगों की आर्थिक मदद के लिए योगी सरकार ने 3301.16 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं.

2.नोएडा एयरपोर्ट की सबसे बड़ी खासियत है कि यह उत्तर भारत के लिए लॉजिस्टिक गेटवे होगा. नॉर्थ इंडिया के कारोबारी आसानी से अपने सामान को अंतराराष्ट्रीय बाजार में बेच सकेंगे.

3.जेवर में एयरपोर्ट बनने से यूपी में विकास और रोजगार के नए मौके मिलेंगे. उम्मीद की जा रही है कि जेवर समेत आसपास के इलाकों में निवेश बढ़ेगा और लोगों को रोजगार मिलेगा.

4.एयरपोर्ट बनने से जेवर में 7224 परिवार प्रभावित होंगे. ऐसे में उनकी मदद और बसेरे के लिए यूपी सरकार ने 403.24 करोड़ उन्हें दिए हैं.

5.इस एयरपोर्ट के बनने से दिल्ली-एनसीआर के लोगों को बहुत फायदा होगा. दिल्ली में इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट और गाजियाबाद में हिंडन एयरपोर्ट बनने के बाद दिल्ली-एनसीआर में यह तीसरा एयरपोर्ट होगा.

6.लोकेशन के लिहाज से देखें तो जेवर एयरपोर्ट आगरा से 130 किलोमीटर और दिल्ली से महज 72 किलोमीटर दूर होगा. ग्रेटर नोएडा से 28 किलोमीटर और नोएडा से 40 30 किलोमीटर और दिल्ली से महज 72 किलोमीटर दूर होगा. ग्रेटर नोएडा से 28 किलोमीटर और नोएडा से 40 किमी इसकी दूरी होगी.

 




 

Leave a Reply

Your email address will not be published.