ओमिक्रॉन चिंताओं के बीच दिल्ली ने उच्च जोखिम वाले देशों की उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

20 महीने से अधिक समय के लंबे अंतराल के बाद, सरकार ने 26 नवंबर को घोषणा की थी कि 15 दिसंबर से अंतरराष्ट्रीय कॉमर्शियल उड़ानों को फिर से शुरू किया जाएगा. हालांकि स्थिति को देखते हुए सरकार इसकी समीक्षा करने वाली है.

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट Omicron को लेकर दुनिया भर के देश सतर्क हो गए हैं. भारत ने भी ‘जोखिम’ कैटगरी वाले देशों से आने वाले या उन देशों से होकर भारत पहुंचने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर जांच अनिवार्य कर दिया है. साथ ही तब तक यात्री को एयरपोर्ट छोड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी, जब तक सैंपल जांच की रिपोर्ट नहीं आ जाती.

पॉजिटिव आने पर उन्हें आइसोलेशन सेंटर में भेजा जाएगा. वहीं निगेटिव आने के बावजूद 7 दिन होम क्वारंटीन रहना पड़ेगा और आठवें दिन फिर से जांच करवानी होगी.

दक्षिण अफ्रीका में 24 नवंबर को वायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट के मिलने की खबर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को दी गई थी. भारत में इस वेरिएंट का कोई भी मामला सामने नहीं आया है. हालांकि कई राज्य सरकारों ने निगरानी टीम को सतर्क रहने को कहा है और जिला प्रशासन को एहतियात कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

PM Narendra Modi ने संसद के शीतकालीन सत्र से पहले पत्रकारों को संबोधित करते हुए सभी से नए कोविड -19 संस्करण के मद्देनजर सतर्क रहने का आग्रह किया है।

 

 


Leave a Reply

Your email address will not be published.